इन चाजों को भिगोकर खाएं, किसी रामबाण औषधि से कम नहीं हैं इनका नियमित सेवन | Soak these chajras and eat nothing less than a panacea.

इन चाजों को भिगोकर खाएं, किसी रामबाण औषधि से कम नहीं हैं इनका नियमित सेवन | Soak these chajras and eat nothing less than a panacea.



डिजिटल डेस्क, भोपल। खाने की कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जीन्हें कि आप भिगोकर खाएं तो उसका दुगना प्रभाव पड़ता है। एक्सपर्ट्स की मानें तो जब आप रात में इन चीजों को पानी में भिगोकर रखते हैं तो अगले दिन उसमें मौजूद पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसा करने से आप को भरपूर पोषण मिलता है और शरीर को जरूरी एनर्जी भी मिलती है। 

इन चीजों को खाने से आप को थकान, खून की कमी और कमजोरी की समस्या में तुरंत राहत मिलती है। नियमित रूप से मेथी के दाने, हरी मूंग, अलसी के बीज, किशमिश को भिगोकर खाएं आप को कई सारे फायदे मिलते हैं।

किशमिश

किशमिश में पोटैशियम, मैग्नीशियम और आयरन की भरपूर मात्रा होती है। किशमिश रोज भीगो कर खाने से शरीर में कैंसर कोशिकाओं की ग्रोथ को कम किया जा सकता है। किडनी स्टोन और एनीमिया के लिए यह फायदेमंद होती हैं। इसे खाना से स्किन प्रॉब्लम्स को भी दूर होती हैं। 

हरी मूंग

हरी मूंग दाल में फाइबर, प्रोटीन और विटामिन बी की भरपूर मात्रा होती है। इसे खाने से कब्ज की समस्या दूर होती है। साथ ही इसमें मौजूद मैग्नीशियम और पोटैशियम  की मात्रा हाई ब्लड प्रेशर की मरीजों को फायदा पहुंचाती है। हरी मूंग दाल के अंदर एंटीऑक्सिडेंट्स की भी अच्छी मात्रा होती है। इसे खाने से कैंसर और डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है।

अलसी के बीज
अलसी के बीज को भी भिगोकर खाना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। अलसी के बीज में  ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अगर आपको हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, तो अलसी भिगोकर खाना फायदेमंद हो सकता है। 
अलसी के बीज आप के शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं और बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। इसमें डायटरी फाइबर काफी मात्रा में पाए जाते हैं। जो की पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होता है। 

मेथी के बीज

मेथी के बीज में फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है। कब्ज को दूर करने का ये बेहतरीन उपाय है। एक चम्मच मेथी के दानों को रात भर भीगो कर रखें और सुबह खाली पेट इसे खाएं। इसे डायबिटीज के मरीजों काफी  राहत मिलती है। साथ ही महिलाओं को पीरियड्स के दर्द में भी इससे आराम मिलता है।

 

डिसक्लेमर- ये जानकारी अलग अलग किताबों और अध्ययन के आधार पर है। भास्कर हिंदी इसकी पुष्टि नहीं करता है।

 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.