माइक्रोसॉफ्ट विंडोज 11 जिस दिन से रोलआउट हुआ है उस दिन से माइक्रोसॉफ्ट के यूज़र्स किसी न किसी परेशानी का सामना कर रहे हैं. अब विंडोज 11 के यूज़र्स के सामने एक नई परेशानी आ चुकी है. आपको बता दें कि  माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने विंडोज 11 के सभी यूजर्स के लिए चेतावनी जारी की है कि इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ ऐसे फीचर हैं जो लोड नहीं हो पा रहे हैं. भारत की सर्वश्रेष्ठ टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से जारी की गई जानकारी के अनुसार, विंडोज 11 ऑपरेटिंग सिस्टम में टच कीबोर्ड, स्निपिंग टूल, इमोजी पैनल जैसे लैटस्ट फीचर्स इनके एक्सपायर्ड सर्टिफिकेट की वजह से सही तरह से लोड नहीं हो पा रहे हैं. इस सर्टिफिकेट की एक्सपाइरी डेट 31 अक्टूबर थी.

कंपनी की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार विंडोज 11 ऑपरेटिंग सिस्टम के पास पैच स्निपिंग टूल के साथ परेशानी का हल नहीं है. आपको बता दें माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने एक वर्कअराउंड भी साझा किया है. इस वर्कअराउंड के अनुसार, ‘अगर यूजर्स स्निपिंग टूल की परेशानी को कम करना चाहते हैं तो उपयोगकर्ता को अपने सिस्टम के कीबोर्ड पर प्रिंट स्क्रीन का यूज करना होगा.

(ये भी पढ़ें- WhatsApp पर आ रहे हैं 3 बेहद खास फीचर, बदल जाएगा आपका चैटिंग का एक्सपीरिएंस)

इसके बाद स्क्रीनशॉट को अपने डॉक्यूमेंट में पेस्ट करना होगा. जिस भाग को यूजर फोटो के रूप में चाहते हैं उसे अगर चाहें तो पेंट की ऐप्लिकेशन में पेस्ट कर सकते हैं’  इस विधि को माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा रिकमंड किया गया है.

रिलीज के तुरंत बाद से ही यूजर्स कर रहे हैं शिकायत:
जिस समय से माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने अपना  नया ऑपरेटिंग सिस्टम रोलआउट किया है उस दिन से इसकी जांच की जा रही है. जानकारी के अनुसार इस ऑपरेटिंग सिस्टम के रिलीज होने के तुरंत बाद से ही, बहुत से यूज़र्स अपने पीसी के खराब परफॉर्मेंस को लेकर रिपोर्ट कर रहे थे. कंप्यूटर प्रोसेसर निर्माता एएमडी ने इस मामले को स्वीकार किया था.

(ये भी पढ़ें-बेहद सस्ता मिल रहा है Realme का बजट 5G स्मार्टफोन, मिलेगी 8GB RAM और 5000mAh बैटरी)

कंपनी ने इस जानकारी का खुलासा भी किया है कि विंडोज 11ऑपरेटिंग सिस्टम को इंस्टॉल करते ही, कुछ प्रोसेसर पर मेजर और फंक्शनल L3 कैश लैटेंसी तीन गुना ज्यादा हो गई है. इस समस्या के कारण प्रीफर्ड कोर ने प्रोसेसर के सबसे तेज कोर पर थ्रेड्स को शेड्यूल करने की वरीयता नहीं दी है.

हालांकि माइक्रोसॉफ्ट कंपनी अपडेट के अनुसार हर हफ्ते कंपनी इनमें से अधिकांश मुद्दों को हल करने की कोशिश कर रही है, लेकिन उनमें से कुछ अभी भी जानकारी मे नहीं है.

Tags: Microsoft, Tech news